Ranjish Hi Sahi Lyrics – Ali Sethi | Iqbal Bano | FunMeLoud

Spread the love
image_pdf
image_print

Ranjish Hi Sahi LyricsAli Sethi : Presenting Lyrics of Ranjish Hi Sahi. Here you can found Ranjish Hi Sahi Lyrics in Hindi and English both version. This is a famous ghazal written by Ahmed Faraz and first sung by Iqbal Bano.

Ranjish Hi Sahi Lyrics
Ghazal: Ranjish Hi Sahi
Lyricist: Ahmed Faraz
Singers: Ali Sethi

Ranjish Hi Sahi Lyrics

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिये आ

अब तक दिल-ए-खुशफ़हम को हैं तुझ से उम्मीदें
ये आखिरी शम्में भी बुझाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

इक उम्र से हूँ लज्ज़त-ए-गिरया से भी महरूम
ऐ राहत-ए-जां मुझको रुलाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

कुछ तो मेरे पिन्दार-ए-मोहब्बत का भरम रख
तू भी तो कभी मुझ को मनाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

माना के मोहब्बत का छुपाना है मोहब्बत
चुपके से किसी रोज़ जताने के लिए आ
रंजिश ही सही…

जैसे तुम्हें आते हैं ना आने के बहाने
ऐसे ही किसी रोज़ न जाने के लिए आ
रंजिश ही सही…

पहले से मरासिम ना सही फिर भी कभी तो
रस्म-ओ-रहे दुनिया ही निभाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

किस किस को बताएँगे जुदाई का सबब हम
तू मुझ से खफा है तो ज़माने के लिये आ
रंजिश ही सही…

End of the song lyrics : if you find any incorrect lyrics in this song so please send us correct lyrics vio our contact us form.

Ali Sethi : Presenting Lyrics. Here you can found Lyrics in Hindi and English both version. This is a famous ghazal written by Ahmed Faraz and first sung by Iqbal Bano.

Ranjish Hi Sahi Video

Read More Song Lyrics

TU HI RE Lyrics in Hindi – Bombay | Hariharan, Kavita Krishnamurthy
Kya Hua Tera Wada Lyrics – Md. Rafi | Hum Kisise Kam Naheen
Aaj Jaane ki Zid Na Karo Lyrics – Farida Khanum | FunMeLoud : Lyrics
Sun Raha Hai Na Tu Lyrics in Hindi – Ankit Tiwari | Aashiqui 2

 64 total views,  1 views today